Breaking News

प्रधानमंत्री मोदी जी ने किया एशिया के सबसे बड़े रीवा सोलर प्लांट का उद्घाटन

प्रधानमंत्री मोदी जी ने किया एशिया के सबसे बड़े रीवा सोलर प्लांट का उद्घाटन मगर आज हमारे देश में एक गुंडे बदमाश के मौत की खबर देशके के लिए गर्व लेने वाली बात के ऊपर हावी हो गयी,मीडिया में दिनभर एक गुंडे के एनकाउंटर की खबर चलती रही मगर प्रधानमंत्री मोदी जी ने किया एशिया के सबसे बड़े रीवा सोलर प्लांट का उद्घाटन आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया  उसको इतनी  तवज्जो नहीं दी जितनी मिलने चाहिए हमारे देश की मीडिय ने,
Riva Solar Plant
image loaded by https://economictimes.indiatimes.com


प्रधानमंत्री मोदी जी ने किया एशिया के सबसे बड़े रीवा सोलर प्लांट का उद्घाटन में प्रधानमंत्री ने नरेन्द्र मोदी जी ने  कहा 

 मध्य प्रदेश में स्थापित यह एशिया का सबसे बड़ा 750 मेगावाट मेगा सोलर पावर प्रोजेक्ट है,  यह सोलर प्लांट  15 लाख टन कार्बन डाइऑक्साइड के बराबर उत्सर्जन को कम करेगा,
यह  वर्तमान के साथ  21 वीं सदी की ऊर्जा जरूरतों का एक माध्यम होगी क्योंकि सौर ऊर्जा सुनिश्चित, शुद्ध और सुरक्षित है ''
प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम उद्घाटन किया और कहा, '' रीवा के इस सोलर प्लांट से यहां के उद्योगों को न केवल बिजली मिलेगी, बल्कि दिल्ली की मेट्रो रेल को भी इसका लाभ मिलेगा, रीवा के अलावा, शाजापुर, नीमच और छतरपुर में सौर ऊर्जा संयंत्रों पर काम चल रहा है। '
रीवा और मध्य प्रदेश के लोगों को बधाई देते हुए, पीएम मोदी ने कहा, 'रीवा का यह इस पूरे क्षेत्र को इस दशक में ऊर्जा का एक बड़ा केंद्र बनाने में मदद करेगा।'

प्रधानमंत्री मोदी जी ने किया एशिया के सबसे बड़े रीवा सोलर प्लांट का उद्घाटन हुआ, मगर यह भी जाने की इस योजना में कौन कौन शामिल 


सोलर पार्क रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड (RUMSL), मध्य प्रदेश उरजविकस निगम लिमिटेड (MPUVN) की संयुक्त उद्यम कंपनी और सौर ऊर्जा निगम ऑफ इंडिया (SECI), एक केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम के बीच एक संयुक्त उद्यम कंपनी है,
मंत्रालय ने अपने सौर पार्क योजना के तहत परियोजना को मंजूरी दी थी और प्रति मेगावाट 12 लाख रुपये का फंड आवंटित किया था।
यह 1,590 हेक्टेयर भूमि पर विकसित किया गया है,

विश्व बैंक समूह का हिस्सा 

अंतर्राष्ट्रीय वित्त निगम (IFC) ने परियोजना में $ 440 मिलियन या 2,800 करोड़ रुपये का निवेश किया है,
पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने परियोजना स्थल से उपभोक्ताओं को बिजली की निकासी की सुविधा के लिए ग्रीन कॉरिडोर के तहत 220/400 केवी अंतर-राज्य संचरण प्रणाली विकसित की है,
इस परियोजना में बिजली की निकासी के लिए विश्व बैंक ऋण के माध्यम से निर्मित 3 एक्स 33/220 केवी पूलिंग सब-स्टेशन शामिल हैं,
यह भारत में विश्व बैंक और स्वच्छ प्रौद्योगिकी कोष से धन प्राप्त करने वाली पहली परियोजना है, इसके साथ, विश्व बैंक ने देश में अपना पहला सौर पार्क वित्त पोषित किया है,

प्रधानमंत्री मोदी जी ने किया एशिया के सबसे बड़े रीवा सोलर प्लांट का उद्घाटन करा वह सभी देशवासियों के लिए गर्व की बात है, जय हिन्द 

कोई टिप्पणी नहीं

आपको किसी बात की आशंका है तो कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखे