Breaking News

अर्नब गोस्वामी को हत्या -आत्महत्या -एक्सीडेंट- कैसे दी जा सकती है मौत ?

रिपब्लिकन भारत के चीफ एडिटर  अर्नब गोस्वामी की एक राजनितिक षड़यंत्र के तहत हत्या करेंगी महाराष्ट्र की महाविकास आघाडी सरकार ? अर्नब गोस्वामी को हत्या -आत्महत्या -एक्सीडेंट- कैसे दी जा सकती है मौत ?

रिपब्लिकन भारत -अर्नब गोस्वामी ने उठाये मुद्दे 

अर्नब ने और उसकी टीम ने पालघर संत हत्या,सुशांत और दिशा सालियान हत्या केस जैसे मुद्दों पर महाराष्ट्र पुलिस जो उजागर नहीं कर पायी या नहीं करा वह अर्नब की टीम ने करा, तब से अर्नब और उसकी टीम महाविकास अघाड़ी सरकार की आँखों में खुंचने लगा है, और महाविकास अघाड़ी सरकार अर्नब  साम्राज्य  ख़तम करने पर तुली है, और वह स्वयं सत्ता में बैठे लोग बोल रहे है

स्टिंग ऑपरेशन -1 

पहले कांग्रेस का प्रवक्ता कहता  शरद पवार  के नेतृत्व में अर्नब को फ़साने का प्लान करा जा रहा है,जिसके लिए उद्धव ठाकरे ने अलग से टीम बनायीं है ,(पूरी बात सुनने के लिए क्लिक करे ) >> कांग्रेस प्रवक्ता की बात 

स्टिंग ऑपरेशन 2 

दूसरा स्टिंग हुवा महाराष्ट्र सरकार के केबिनेट मंत्री नवाब मलिक का ,जिन्हो ने साफ़ शब्दों  में कहा की अर्नब स्यूसाइड (आत्महत्या ) करेंगे, सवाल यह है की उन्हें यह कैसे पता की अर्नब स्यूसाइड करेंगे ??? मतलब साफ़ साफ़ है सरकार में बैठे ताना शाहो ने कोई योजना बना ली है  ?   >>>>>     नवाब मालिक की बात 

कड़क और तीखी बात 

सवाल यह हो रहा है जनता के दिमाक में की क्या राजनितिक गुंडे अब अर्नब को ख़तम करवा कर फिर उसे आत्महत्या या एक्सीडेंट केस बना देंगे, या ऐसे चक्रव्यूह बनाएंगे की अर्नब खुद आत्महत्या कर ले ?

इन नेता का नाम इसीलिए लिखा क्यूंकि उन्ही के पार्टी और सरकार में भागीदार लोगो ने केमेरे के सामने इस बात का स्वीकार करा है उसने उद्धव ठाकरे,शरद पावर  का नाम लिया है,

मजीद मेमन शरद पवार के खास है उन्होंने भी केमेरा के सामने कहा की सरकार सामने ऐसा रवैया रखेंगे तो किंमत चुकानी पड़ेंगी,

यह सभी बात एक ही शंका पैदा कर सकती है की अर्नब की हत्या या एक्सीडेंटल मौत का चक्रव्यूह तैयार करा है  महाराष्ट्र सरकार के मुखियाओ  ने ?क्यूंकि कांग्रेस प्रवक्ता ने तो साफ़ शब्दों में उद्धव ठाकरे जी और शरद पवार का नाम भी लिया है,

इसे भी पढ़े >>>> महाविकास अघाडी है या नाहाविनाश अनाडी सरकार-महाराष्ट्र में अघोषित आपातकाल है ?

जनता के तीखे सवाल 

क्या अर्नब के मौत के बाद राज्य की और देश की जनता की आँखे खुलेंगी ?

दूसरे मिडिया चेनल्स क्यों मौन रखे है? आज अर्नब तो कल आपकी बारी भी आ सकती है, या फिर आप लोगो ने भी तय करा है की सच के साथ नहीं हो,सिर्फ पैसो से ही मतलब है आप लोगो को ?

सुधा भारद्वाज का नाम नक्सल प्रवृति गिरफ़्तारी में कोर्ट सुओमोटो लगा सकती है अर्नब केस में क्यों नहीं ?

केंद्र सरकार और राज्य की बीजेपी क्या किसी के मरने का इन्तजार करेंगे ?

जब जब कोई हिन्दू के लिए आवाज उठाता है उसकी ऐसे ही हत्या होती है, राजीव दीक्षित की हत्या नहीं भूले होंगे, जागो जनता जागो कबतक मुर्दे बने रहेंगे? अर्नब तो इतनी बड़ी हस्ती है तो उसके साथ यह किया जा रहा है तो हमारे जैसे सामान्य इंसान का क्या होगा ?

मान्यता अनुसार जिसे मृत्यु के लिए लोग जितनी बात करेंगे ऐसे उनकी उम्र बढ़ती है,अर्नब के लिए देश में जनता और संत समाज दुवा मांगता है, और दुवा ईश्वर सुनते है ,

इस बात को ज्यादा से ज्यादा फैलाना आपका भी कर्तव्य है ,जिससे लोग अर्नब के लिए दुवा भी मांगे और उनका साथ दे, नेताओ की मैली मुराद कभी पूर्ण ना हो,

सत्यमेव जयते, जय हिन्द 

संवादाता - राजू पटेल 


कोई टिप्पणी नहीं

आपको किसी बात की आशंका है तो कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखे