Breaking News

बेकार आवाज वाली लता मंगेशकर ने लोगों के करियर बर्बाद किए-लिबरलों की पसंदीदा कावेरी

आज एक ट्रेंड बन गया है की खुदको प्रचलित होना है तो बड़े और नामी हो उनको बदनाम करने की कोशिश करो या उनके लिए सोश्यल मिडिया में कुछ भी बकवास लिखो,लोग गालिया देंगे और वह फेमस हो जाएंगे,बिलकुल ऐसा ही हुआ है,

lata mangeskar
image loaded by https://www.news18.com

बॉलीवुड गायिका लता मंगेशकर की आवाज पर ट्वीटर पर बहस छिड़ गयी, यह विवाद तब शुरू हुआ, लिबरलों की पसंदीदा युवती कावेरी नाम की एक ट्विटर यूजर ने ट्वीट करा कि लता मंगेशकर की आवाज ‘ओवर रेटेड’ है और उन्होंने इंडस्ट्री में लोगों के करियर बर्बाद किए। 


इसके बाद ट्विटर पर मौजूद तमाम लोग ये ट्वीट करने वाली कावेरी के पक्ष और विपक्ष में लिखने लगे।

दरअसल, कावेरी नाम की एक ट्विटर यूजर ने लिखा, “भारतीयों को ये मानने के लिए ब्रेनवॉश किया गया है कि लता मंगेशकर की आवाज़ अच्छी है, यही नहीं, उनकी आवाज़ बिगड़ी हुई और बहुत ज़्यादा इस्तेमाल की हुई (ओवर यूज्ड) है।”

कावेरी के इस ट्वीट पर अब तक लगभग डेढ़ हजार रीट्वीट और करीब साथ हजार लाइक भी आ चुके हैं, उन्होंने इस पर एक नहीं बल्कि कई ट्वीट करते हुए लिखा, “लता मंगेशकर ने अपनी आवाज़ की उम्र से अधिक गाने गाए। संगीत से जुड़े जो लोग उनकी तारीफ करते नहीं थकते, वो इसलिए क्योंकि लता मंगेशकर पावरफुल थीं और इसलिए कोई उनसे भिड़ना नहीं चाहता था। लता मंगेशकर लोगों को तबाह करने का दम रखती थीं।”

जब यह विवाद बढ़ने लगा तो कावेरी ने और ट्वीट करते हुए लिखा तब किसीने प्रतिक्रिया नहीं दी थी,

कावेरी ने लता मंगेशकर को लेकर ट्वीट जारी रखते हुए लिखा,“मुझे खुशी है कि उन्होंने उमराव जान के लिए गाना नहीं गाया। पाकीजा तक वो मुझे इतनी बुरी नहीं लगीं, इसलिए मुझे इससे ज्यादा ऐतराज नहीं है, मुझे इन दोनों ही फिल्मों के ओएसटी पसंद हैं।”


एक अन्य ट्विटर यूजर ने लिखा कि लता मंगेशकर ने अकेले ही कई लोगों के करियर तबाह किए, जिनमें से एक अनुराधा पौढ़वाल भी हैं। इस पर कावेरी ने जवाब में लिखा कि वो बस ये कहने ही वाली थी और लता मंगेशकर रेखा भारद्वाज के साथ भी यही करती अगर वो समकालीन होते।

कावेरी के ही इस ट्विटर थ्रेड पर एक अन्य यूज़र ने भी अपनी सहमति जताते हुए कुछ और उदाहरणों का भी जिक्र करते हुए लिखा, “इसके बाद आप कहेंगे कि शाहरूख खान हमेशा ओवर एक्टिंग करते हैं, सचिन तेंदुलकर को आवश्यकता से अधिक महत्त्व दिया गया और अमिताभ बच्चन को रिटायर हो जाना चाहिए, अब उन्हें झेलना मुश्किल है। मैं इनमें से किसी भी बात से अहसहमत नहीं हूँ।”

इसके बाद इस विवाद में कूदने वालों में गायक अदनान सामी भी मौजूद थे। उन्होंने लता मंगेशकर के बचाव में ट्विटर पर लिखा, “बन्दर क्या जाने अदरक का स्वाद।” साथ ही उन्होंने कहा कि मुँह खोलकर दुनिया को अपनी मूर्खता के बारे में बताने के बजाय चुप रहना चाहिए।

कई लोगो ने कावेरी नमक युवती को लताड़ते हुए अनेक ट्वीट करे उनसे कहना चाहूंगा की ऐसे लोगो को जवाब ना दे वही बड़ा करारा जवाब है, क्यूंकि यह उनमे से है जो प्रख्यात होने के लिए क्रिकेट मैच के  दौरान स्टेडियम में नंगा दौड़ने के लिए पोस्ट करती है और उन्हें टीवी सीरियल और फिल्मो में काम मिल जाता है, याग दुनिया उलटी है,








कोई टिप्पणी नहीं

आपको किसी बात की आशंका है तो कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखे