Breaking News

अनुराग कश्यप, तापसी पन्नू सहित अन्य पर रेड में टैक्स चोरी के बड़े सबूत हाथ लगे - 4 शहर-28 ठिकाने,350 करोड़ की टेक्ष चोरी ?

चार शहरों- मुंबई, पुणे, दिल्ली और हैदराबाद के 28 ठिकानों पर कार्रवाई हुई है। सीबीडीटी ने बताया है कि आयकर विभाग सर्च और सर्वे ऑपरेशंस अंजाम दे रहा है। मुंबई सरकार के नेता बचाने के लिए मैदान में आये अब चुप होंगे,आईटी डिपार्टमेंट ने कहा की 20 दिन पहले नोटिस दिया मगर जवाब नहीं मिला तो एक्शन लेना पड़ा,

Anurag-Taapsee
 image loaded by https://www.ndtv.com

फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप, अभिनेत्री तापसी पन्नू सहित अन्य के ठिकानों पर आयकर विभाग (IT dept) की छापेमारी में बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी पकड़े जाने की बात सामने आ रही है। आईटी डिपार्टमेंट की छापेमारी लगातार दूसरे दिन गुरुवार (4 मार्च 2021) को भी जारी रही। इसकी शुरुआत मुंबई में 2 फिल्म निर्माण कंपनियों, एक अभिनेत्री और दो टैलेंट मैनेजमेंट कंपनियों से 3 मार्च को हुई थी।

सीबीडीटी का कहना है कि 5 करोड़ रुपए कैश पेमेंट लेने की रसीदें तापसी पन्नू के घर से बरामद हुई हैं। कथित तौर पर टैक्स बचाने के लिए यह पेमेंट कैश के तौर पर ली गई। यही नहीं फिल्म प्रोडक्शन हाउस फैंटम फिल्म्स ने बॉक्स ऑफिस पर जितने कलेक्शन की बात कही थी, और जो खर्च हुआ था उसका मेल नहीं खा रहा था,

कंपनी के अधिकारी 300 करोड़ रुपए का हिसाब नहीं दे पाए हैं। यह भी बताया है कि फैंटम फिल्म्स की हिस्सेदारी बेचने के लिए उसका अंडरवैल्यूएशन किया गया। फैंटम फिल्म्स कम्पनी को 2018 में डिजॉल्व कर दिया गया था। शेयरों की कीमत कम दिखाई और लेनदेन में गड़बड़ी की। 


छापे के दौरान फर्जी खर्च के भी सबूत मिले हैं। इस दौरान 20 करोड़ की टैक्स चोरी का मामला सामने आया है। करीब इतनी ही टैक्स चोरी के दायरे में तापसी भी हैं। जाँच चलने तक 7 बैंक लॉकर्स के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी गई है।विभाग के अनुसार कुल 350 करोड़ की टैक्स अनियमितता से यह मामला जुड़ा हुआ है।

आयकर विभाग की कार्रवाई की गाज अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू के अलावा विकास बहल और मधु मंटेना पर भी गिरी है। अनिल अंबानी की रिलायंस एंटरटेनमेंट के सीईटो शुभाशीष सरकार, अफसर जैदी (CEO Exceed) और विजय सुब्रमण्यम (CEO Kwan talent management agency) भी कार्रवाई की जद में हैं।


बुधवार को अधिकारियों ने छापेमारी के दौरान इन फ़िल्मी हस्तियों से पूछताछ करते हुए कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस और दस्तावेजों की जाँच की थी। विभाग के अधिकारी जानना चाहते थे कि आखिर टैक्स चोरी की रकम का बँटवारा कैसे हुआ। इससे क्या-क्या खरीदा गया और कहीं इस रकम को मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए देश से बाहर तो नहीं भेजा गया।

कहा जा रहा है कि तापसी और अनुराग के घर प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी छापा मार सकता है। संभव है कि अनुराग और तापसी की व्हॉट्सएप चैट भी खँगाली जाए और जिन लोगों ने उनकी फिल्मों में निवेश किया उनसे भी पूछताछ हो।

गौरतलब है अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू पहले ऐसे बॉलीवुड के जाने-माने चेहरे नहीं है जिन पर आईटी विभाग ने शिकंजा कसा हो। इससे पूर्व एकता कपूर,कटरीना कैफ,प्रियंका चोपड़ा,2011 में माधुरी दीक्षित के घर भी सालों पहले आईटी रेड पड़ी थी।

अनुराग और तापसी को लेकर विपक्ष इसीलिए बचाव में आगे आया क्यूंकि वह दोनों ही मोदी सरकार के खिलाफ कई बार ट्वीट सरकार की आलोचना भी कर चुके है,तो विपक्ष की भी फर्ज बनती है की उनके बचाव में आगे आये,इसीलिए राहुल गांधी से लेकर ममता,अखिलेश यादव,तेजस्वी यादव और महाराष्ट्र सरकार के नेता भी मैदान में आ गए, मगर जब पता चला की आईटी डिपार्टमेंट को टेक्स चोरी के साबुत सबूत मिले है तो सभी नेता गायब हो गए है,










कोई टिप्पणी नहीं

आपको किसी बात की आशंका है तो कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखे