Breaking News

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना: मई-जून में 80 करोड़ लोगों को 5 किलो अनाज देगी मोदी सरकार

कोरोना वायरस के दूसरे वेव के प्रभाव को देखते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत दो महीने के लिए 5 किलोग्राम अनाज प्रदान करने के लिए 26,000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएँगे। इस कदम से लगभग 80 करोड़ लोगों को लाभ होगा। मोदी सरकार इस आपदा में हर कदम पर देशवासियों के साथ खड़ी है।

Reshaning shop
image loaded by https://www.financialexpress.com

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में कहर मचा रखा है। कई राज्यों में कर्फ्यू लगना शुरू हो चूका है, ऐसे में हररोज कमाई करके अपने परिवार का गुजरा करनेवाले गरीबों की हालत फिर से बिगड़ने लगी है। लिहाजा केंद्र सरकार ने एक बार फिर से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मुफ्त खाद्यान्न देने का ऐलान किया है।

इसके तहत मोदी सरकार मई और जून के महीने में हर गरीब को 5 किलो अनाज मुफ्त देगी। इससे 80 करोड़ जरूरतमंदों को लाभ मिलेगा। मोदी सरकार गरीबों को राशन उपलब्ध कराने के लिए 26 हजार करोड़ रुपए खर्च करेगी।

अधिकारियों ने बताया कि गरीबों के लिए प्रधानमंत्री मोदी की प्रतिबद्धता के अनुरूप सरकार ने 80 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त अनाज देने का फैसला किया है, जैसा कि पिछले साल लॉकडाउन के दौरान किया गया था। इसके तहत दो महीनों के लिए प्रति माह प्रति व्यक्ति 5 किलो अनाज दिया जाएगा।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोर देकर महामारी के बीच गरीबों के लिए पोषण की व्यवस्था को महत्वपूर्ण बताया था। गौरतलब है कि पिछले साल जब पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था उस समय भी मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 80 करोड़ गरीबों को अनाज दिया था। उस दौरान राशनकार्ड धारकों को अप्रैल, मई और जून के महीने में 5 किलो गेहूँ या चावल के साथ एक किलो दाल मुफ्त दिया गया था। बाद में इसे बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 तक के लिए लागू कर दिया था।







कोई टिप्पणी नहीं

आपको किसी बात की आशंका है तो कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखे