Breaking News

पूर्णिया की महादलित बस्ती को 150+ की भीड़ ने लगाई आग,चौकीदार की हत्या,1 बच्चा गायब : रिजवी, शाकिद, इलियास मुख्य आरोपि


बिहार के पूर्णिया जिले के बायसी थाना के खपड़ा पंचायत के मझुवा गाँव में मुस्लिम भीड़ ने जमकर उत्पात मचाया। महादलित बस्ती के एक दर्जन से अधिक घरों को आग के हवाले कर दिया,और बस्ती के चौकीदार की पीट-पीट कर हत्या कर दी।

मुस्लिम भीड़ ने दलित बस्ती को जलाया:साभार https://hindi.opindia.com

चौकीदार भरत राय ने इस ने इस मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि मौके पर उनके साथ एक और साथी दिनेश राय मौजूद थे। उन्होंने बताया कि दिन में थोड़ी बहुत मारपीट हुई थी, जिसके बाद प्रशासन ने आकर उनको समझा कर मामला शांत कर दिया था, लेकिन रात 11:30 बजे कई गाँवों से सेंकडो की भीड़ वहाँ पर पहुँची। 

हाथ में पेट्रोल का गैलन था। वे घरों पर पेट्रोल डालते गए और आग लगाते गए। इस दौरान जब आदमी घर से निकल कर भागने लगे तो उसे खींच-खींच कर मारने लगे । आरोपियो के हाथ में तलवार, फरसा, बलम, लाठी-डंडे, पेट्रोल और मोटरसाइकल वाला चेन भी था। मोटरसाइकिल वाले चेन से भी कई आदमियों को घायल किया गया है।

                                                 जली हुई महादलित बस्ती, साभार: KOSHI ALOK NEWS

इसमें एक आदमी की मृत्यु हो गई और लगभग 20-25 आदमी जख्मी हैं, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। अम्बेदकर सेवा समिति के कार्यकारी अध्यक्ष सह अधिवक्ता इन्द्रदेव पासवान ने दलित युवक की हत्या के मामले के आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी की माँग की है।

चौकीदार ने बताया कि उनके एक साथी दिनेश राय ने भागने की कोशिश की, लेकिन भीड़ ने उन्हें खींच लिया और फरसा से वार कर उनका सिर फाड़ दिया। सिर फटने के बाद जब वह बेहोश होकर नीचे गिर पड़े, तो आरोपितों ने लाठी-डंडे से उनके पूरे शरीर पर वार किया। भीड़ ने दिनेश राय की मोटरसाइकल भी जला दी। भरत राय का कहना है कि भीड़ ने उन पर भी हमला किया लेकिन वो वहाँ से किसी भी तरह से भागने में सफल रहे। भीड़ ने न महिला देखा, न बच्चा और न बूढ़ा… सबकी निर्ममता से पिटाई की।

उनका कहना है कि महादलितों के पीडब्ल्यूडी में बसने के आक्रोश में भीड़ ने ऐसा किया है। महादलित यहाँ पर लगभग 30 सालों से रह रहे हैं। उन्होंने बताया कि भीड़ को भड़का कर लाया गया था। इसके बाद एक मीटिंग की गई और हमले को अंजाम दिया गया। 

भरत राय ने बताया कि वो लोग मुस्लिम समुदाय के थे, रिजवी, शाकिद और इलियास यह तीन लोग बाकी लोग को भड़का कर लाए थे।

उन्होंने बताया कि यहाँ पर लगभग 60-70 महादलितों का घर है, जिसमें से 14-15 घरों को जला दिया गया है। पुलिस के गाड़ी की आवाज सुनकर भीड़ वहाँ से भागी। घटना में 3 साल का एक बच्चा भी लापता बताया जा रहा है।  बताया गया कि 60 नामित और बाकी अज्ञात पर मामला दर्ज हुआ है।

एसपी दयाशंकर ने बताया कि इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। जल्द आरोपि पुलिस की गिरफ्त में होंगे।








कोई टिप्पणी नहीं

आपको किसी बात की आशंका है तो कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखे